सन 1669 की किसान-क्रांति के यौद्धेयों को सर्वखाप ने दी श्रद्धांजलि व् दोहराया किसान आंदोलन सम्पूर्ण समर्थन का संकल्प:

रोहतक: आज दिनांक 1 जनवरी 2021 को जाट भवन रोहतक में खापलैंड.इन​ (khapland.in) द्वारा सर्वखाप बैठक आयोजित की गई, जिसमें 60 से अधिक खापों व् पालों के प्रमुखों ने भाग लिया| बैठक की अध्यक्षता डॉक्टर सुरेश नांदल (प्रधान, नांदल खाप) ने की| चौधरी सुभाष बाल्यान (महामंत्री, सर्वखाप, लाइव उपस्तिथि), चौधरी महेंद्र सिंह नांदल (संयोजक, सर्वखाप), चौधरी रामकरण सौलंकी (प्रधान, पालम 360 खाप), चौधरी अरुण जैलदार (अध्यक्ष 52 पाल), चौधरी नफे सिंह नैन ( प्रधान, बिनैण खाप), चौधरी महेंद्र सिंह (प्रधान, झाड़सा 360 खाप), चौधरी रामफल महाशय (प्रधान 84 कोट कासिम राजस्थान खाप), चौधरी हरदीप अहलावत (प्रधान, खाप 84, झज्जर), चौधरी राजमल घणघस (प्रधान, जाटू खाप 84, भिवानी, लाइव उपस्तिथि) ने संयुक्त रूप से बैठक को संयोजित किया|

सर्वखाप ने सर्वप्रथम सन 1669 की सर्वखाप किसान-क्रांति के अग्रदूत गॉड गोकुला जी महाराज समेत, उनके सैंकड़ों बलिदानी साथियों समेत औरंगजेब के दरबार में हुई 21 खाप चौधरियों की शहादत को नमन किया व् अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये| पाठकों को विदित रहे कि यह किसान-क्रांति मई 1669 से ले दिसंबर 1669 तक तिलपत, फरीदाबाद के मैदानों में चली थी| जब एक-के-बाद एक औरंगजेब के भेजे सब सेनापतियों व् फौजों को सर्वखाप आर्मी हराती चली गई तो खुद औरंगजेब को युद्ध करने आना पड़ा व् लगातार 3 दिन तक तिलपत के मैदान में भयंकर युद्ध के बाद ही यह विद्रोह दब पाया था| इस युद्ध में गॉड गोकुला जी व् उनके सैकड़ों साथियों को गिरफ्तार कर आगरा के फव्वारा चौक पर बोटी-बोटी कर उनकी शहादत ली गई थी|

इसके साथ ही सर्वखाप ने वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलन में आज तक शहीद हुए 40 ऊपर बलिदानियों को भी नमन किया व् इस किसान आंदोलन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व् सम्पूर्ण समर्थन की निरंतरता को दोहराते हुए निम्नलिखित प्रस्ताव पास किये:

1) सर्वखाप हर प्रकार की परिस्तिथि में किसान यूनियन व् किसानों के फैसलों के साथ खड़ी रहेगी व् इनको ही आगे रखेगी|
2) सर्वखाप, आंदोलन के लम्बे चलने के मद्देनज़र सभी खाप चौधरीयों से अपेक्षा करती है कि वे अपनी-अपनी खाप के गामों से आंदोलन के लिए फेज-मैनर में किसानो के शामिल होने और रसद की लगातार उपलब्धता की निरंतरता सुनिश्चित करते रहें|
3) सर्वखाप, सरकार से आग्रह करती है कि आंदोलन में जा रहे किसी भी किसान को न तो परेशान किया जाए और न ही रोका जाए ताकि भारतीय लोकतंत्र की गरिमा भंग ना हो|
4) सर्वखाप, सरकारों में बैठे लोगों से अपील करती है कि या तो किसानों की समस्या का निदान करवाएं अन्यथा सरकार से बाहर आ कर किसान आंदोलनकारियों का साथ दें|
5) सर्वखाप, तमाम सरकार व् सामाजिक संस्थाओं से अनुरोध करती है कि इस आंदोलन को किसी भी प्रकार का धार्मिक-जातिगत-क्षेत्रगत-राज्य विशेष के आधार पर बांटने की व्यर्थ कोशिश ना करें| ऐसी हर कोशिश को नाकाम करने में सर्वखाप सक्रिय रहेगी|
6) सर्वखाप, “मिशल-खाप-पाल” की एकता व् सौहार्द के लिए “सरजोड़” मुहीम चलाएगी|
7) जब तक किसान आंदोलन चलेगा, सर्वखाप की मासिक अथवा आवश्यकतानुसार पंचायत होती रहेंगी|

इस मौके पर आज की बैठक के अध्यक्ष व् संयोजकों व् कार्यक्रम की आयोजक khapland.in टीम से सुरेश देसवाल, फूल कुमार मलिक (फ्रांस से लाइव), नेपाल सहरावत (बुढ़ाना, मुज़फ्फरनगर से लाइव), सुनील देसवाल, सुदीप कलकल समेत चौधरी सोमबीर सांगवान (प्रधान, सांगवान खाप), चौधरी ज्ञान सिंह चौहान (चौहान पाल), चौधरी ईश्वर नैन (बिनैण खाप), सोमबीर राठी (प्रधान राठी व् रुहिल खाप), चौधरी राजेंद्र सिंह (अध्यक्ष, जाट सभा दिल्ली), चौधरी धर्मपाल हुड्डा (प्रधान, हुड्डा खाप), चौधरी सुरेंद्र दहिया (प्रधान, दहिया खाप), चौधरी अशोक खत्री (प्रधान, खत्री खाप), चौधरी मान सिंह दलाल (प्रवक्ता, दलाल खाप), चौधरी धर्मपाल मलिक (प्रवक्ता, मलिक खाप), चौधरी जय सिंह अहलावत (प्रधान, अहलावत खाप), पंडित बृजमोहन (52 पाल), चौधरी ओमप्रकाश धनखड़ (प्रधान, धनखड़ 12) आदि उपस्तिथ रहे|

नीचे सलंगित हैं संबंधित प्रोग्राम की कुछ फोटोज व् रिकार्ड्स:

 

Leave a Comment..